एनआरएससी के बारे में

राष्ट्रीय सुदूर संवेदन केंद्र (एनआरएससी) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो), अंतरिक्ष विभाग (अं.वि.) के प्रमुख केंद्रों में से एक है। एनआरएससी के पास उपग्रह आंकड़ा प्राप्त करने हेतु भू-केंद्रों की स्थापना, आंकड़ा उत्पादों के जनन, उन्हें प्रयोक्ताओं को विरतिर करने, आपदा प्रबंधन सहायता, सुशासन हेतु भू-स्थानिक सेवाओं और व्यावसायियो, संकाय सदस्यों एवं छात्रों के क्षमता निर्माण सहित सुदूर संवेदन अनुप्रयोगों के लिए तकनीक के विकास का अधिदेश है।

एनआरएससी देश की राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय सुदूर संवेदन आकड़ों तथा अनुप्रयोग संबंधित आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कई परिसरों के माध्यम से कार्य करता है।

  • प्रशासन, सुदूर संवेदन अनुप्रयोग और हवाई सेवाओं के लिए मुख्य परिसर, बालानगर, हैदराबाद में स्थित है।
  • उपग्रह आंकड़ा अभिग्रहण, आंकड़ा संसाधन एवं वितरण, पृथ्वी एवं जलवायु अध्ययन और आपदा प्रबंधन सहायता के लिए परिसर शादनगर में स्थित है।
  • विभिन्न राज्यों के लिए सुदूर संवेदन अनुप्रयोग को बढ़ावा देने हेतु पांच क्षेत्रीय केंद्र हैं, जो कि 9, के.बी.एच.बी. जोधपुर (क्षेत्रीय केंद्र-पश्चिम), साधिकनगर, नई दिल्ली (क्षेत्रीय केंद्र-उत्तर), न्यू साल्ट लेक सिटी,कोलकाता (क्षेत्रीय केंद्र-पूर्व), अमरावती रोड, नागपुर (क्षेत्रीय केंद्र -मध्य), कार्तिक नगर, बेंगलुरु (क्षेत्रीय केंद्र-दक्षिण) में स्थित हैं।
  • व्यावसायियों, संकाय सदस्यों एवं छात्रों को प्रशिक्षण प्रदान करने और सामान्य जनसंपर्क हेतु हैदराबाद के जीडिमेट्ला में जनसंपर्क सुविधा है।
  • बेगमपेट हवाई अड्डा, हैदराबाद में वायुयान प्रचालन सुविधा